For De-Addiction Mahashanknad

नशामुक्ति के लिए महाशंखनाद, 50 हजार लोगों ने बनाई मानव शृंखला

भोपाल. नशे के खिलाफ राजधानी की सड़कों पर सोमवार को संभवत: पहली बार न केवल काफी बड़ा, बल्कि अद्भुत प्रदर्शन देखने को मिला। नेपाल समेत देश के कई राज्यों से आए 50 हजार से भी अधिक लोगों ने अपने गुरुवर योगीराज शक्तिपुत्र महाराज की मौजूदगी में मानव शृंखला के रूप में रैली निकाल कर समूचे भारत को नशामुक्त करने के लिए महाशंखनाद किया।

रैली भेल के जंबूरी मैदान से होकर महाराणा प्रताप नगर समेत करीब 15 किलोमीटर की दूरी तय कर वापस आयोजन स्थल पर पहुंची। रैली जब बोर्ड ऑफिस चौराहा पर थी, तब उसका अंतिम सिरा जंबूरी मैदान पर था।
नशे के खिलाफ आवाज उठाने आए लोगों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। रैली में चल रहे लोग अनुशासित थे। इसका उदाहरण यह है कि नशे के खिलाफ नारे लगाते यह सभी सड़क के एक किनारे कतारबद्ध होकर चल रहे थे, जिससे सड़कों पर जाम लगने की नौबत कम ही आई।

भेल के जंबूरी मैदान पर आयोजित शक्ति चेतना जनजागरण शिविर के दूसरे दिन सोमवार को सुबह दस बजे नशा मुक्ति शंखनाद रैली निकाली गई। रैली में मप्र, उप्र, बिहार, राजस्थान समेत देश के कई स्थानों से आए लोग शामिल हुए, जो नशे के खिलाफ नारे लिखी तख्तियां लिए चल रहे थे। रैली में शामिल एक वाहन पर विराजमान भगवती मानव कल्याण संगठन व पंच ज्योति शक्ति तीर्थ सिद्धाश्रम के गुरु शक्ति पुत्र महाराज के दर्शन के लिए लोग सड़क के दोनों ओर खड़े दिखाई दिए।

गूंज रहे थे नशे के खिलाफ नारे और गुरुवर के जयकारे : रैली इतनी लंबी थी कि बोर्ड ऑफिस चौराहे पर पहुंचने के बाद भी करीब 5 हजार लोग जंबूरी मैदान पर ही रैली के आगे बढ़ने का इंतजार कर रहे थे। जंबूरी मैदान से शुरू हुई रैली भेल के दशहरा मैदान, अन्ना नगर, चेतक ब्रिज, बोर्ड ऑफिस चौराहा, पुल बोगदा, कैपिटल पेट्रोल पंप, जेके रोड, इंद्रपुरी, सोनागिरी, पिपलानी होते हुए वापस जंबूरी मैदान पहुंची।

खुद ही कर रहे थे व्यवस्था: रैली के कतार में चलने, ट्रैफिक में बाधा न बनने और चौराहे पर पहले वाहनों को निकलने का रास्ता देने जैसी व्यवस्थाएं रैली में शामिल लोग ही कर रहे थे। बोर्ड ऑफिस चौराहा समेत कुछ अन्य स्थानों पर जरूर रैली के गुजरते वक्त कुछ देर के लिए ट्रेफिक बाधित हुआ।
नशे से बचेंगे तो शरीर व शहर दोनों स्वच्छ रहेंगे: संत शक्तिपुत्र महाराज
परमहंस योगी शक्तिपुत्र महाराज ने अपने संदेश में कहा कि जब मनुष्य नशा नहीं करेगा तो वह स्वयं भी स्वस्थ रहेगा और अपने आसपास के वातावरण और समूचे देश को स्वच्छ रखने की बात सोचने लगेगा।

शिविर में आज: शिविर में मंगलवार को बहन ज्योति योग भारती की उपस्थिति में सुबह 7 से 9 बजे तक मंत्रजाप, ध्यान साधना व योगाभ्यास होगा। दोपहर एक से दो बजे तक भजन होंगे। इसके बाद महाराजश्री के प्रवचन होंगे।